Posts

Showing posts from August, 2018

Himanshu sachan

Image
अजब इश्क़ है


अजब इश्क़ है, ये गज़ब इश्क़ है, मुझे न पता, ये क्या इश्क़ है, सफर में मिले अजनबी साथ है, और तुम कह रहे हो, यही इश्क़ है, अजब इश्क़ है, ये गज़ब इश्क़ है, मुझे न पता, ये क्या इश्क़ है,
जो पहले कभी भी, मिले भी न थे, वो एक तुझे से मिलके, अब साथ है, यही इश्क़ है, हाँ यही इश्क़ है, अजब इश्क़ है, ये गज़ब इश्क़ है, मुझे न पता, ये क्या इश्क़ है,
जिनका कभी कोई, वादा न था, मिलने का कोई,  इरादा न था, वो दो जिस्म, और एक जान है, यही इश्क़ है, हाँ यही इश्क़ है, अजब इश्क़ है, ये गज़ब इश्क़ है, मुझे न पता, ये क्या इश्क़ है,
अगर आज महफ़िल, कोई मिले, जिस देखकर तेरा, दिल ये कहे, कि यही तेरी दुनिया है,  मंजिल यही, समझ जाना कि, हाँ यही इश्क़ है, अजब इश्क़ है, ये गज़ब इश्क़ है, मुझे न पता, ये क्या इश्क़ है,
बिना सोचे समझे चले जाना तुम, हालात दिल के, सुना आना तुम, शायद उसे भी,