Himanshu sachan

अजब इश्क़ है


अजब इश्क़ है


अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,
सफर में मिले अजनबी साथ है,
और तुम कह रहे हो,
यही इश्क़ है,
अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,

जो पहले कभी भी,
मिले भी न थे,
वो एक तुझे से मिलके,
अब साथ है,
यही इश्क़ है,
हाँ यही इश्क़ है,
अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,

जिनका कभी कोई,
वादा न था,
मिलने का कोई, 
इरादा न था,
वो दो जिस्म,
और एक जान है,
यही इश्क़ है,
हाँ यही इश्क़ है,
अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,

अगर आज महफ़िल,
कोई मिले,
जिस देखकर तेरा,
दिल ये कहे,
कि यही तेरी दुनिया है, 
मंजिल यही,
समझ जाना कि,
हाँ यही इश्क़ है,
अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,

बिना सोचे समझे चले जाना तुम,
हालात दिल के,
सुना आना तुम,
शायद उसे भी,
हो तेरी तलाश,
और फिर इश्क़ की, 
एक कहानी बनेगी,
और एक राजा को उसकी रानी मिलेगी,
यही मिलना मिलना, तो इश्क़ है
यही इश्क़ है,
हाँ यही इश्क़ है,
अजब इश्क़ है,
ये गज़ब इश्क़ है,
मुझे न पता,
ये क्या इश्क़ है,


              
~Joker

एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,





एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,



एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,
वो ख्वाब था तेरा ही ऐ मेरे हमनशीं,
उस ख्वाब को, हकीकत बना
ऐ हमनशीं तू मेरे पास आ-2

आ बाहों में भर लूँ तुझे, 


लूँ अपना मैं बना,
तेरे वास्ते सनम दूँ दुनिया,
को भुला,
इस तरह से मैं तेरा हो गया,
जो भी था मेरा वो तेरा हो गया,

एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,
वो ख्वाब था तेरा ही ऐ मेरे हमनशीं,
उस ख्वाब को, हकीकत बना
ऐ हमनशीं तू मेरे पास आ-2

क्या तुझको मैं बताऊँ, की तुम बिन अधूरा हूँ
तुम साथ थी तो लगता था, मैं मानो पूरा हूँ
अब तो मुझे रहती है फ़िक़्र, अपनी नहीं तेरी हमसफ़र,
इस फ़िक़्र को मिटा के, तुम खो जाओ मुझमे ही कंही
ऐ मेरे हमनशीं-4,

एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,
वो ख्वाब था तेरा ही ऐ मेरे हमनशीं,
उस ख्वाब को, हकीकत बना
ऐ हमनशीं तू मेरे पास आ-2

लब मेरे खुलते नहीं अब बाते हुई खत्म,
दूर जबसे मुझसे हुए हो तुम मेरे सनम,
क्या मैं कहूँ क्या मेरा हाल है,
जिंदा हूँ मैं, फिर भी सब बेहाल है,

एक ख्वाब जो दफन हुआ है मुझमे ही कंही,
वो ख्वाब था तेरा ही ऐ मेरे हमनशीं,
उस ख्वाब को, हकीकत बना
ऐ हमनशीं तू मेरे पास आ-2

जोकर 


Post a Comment

Popular posts from this blog

एक दूसरे का सम्मान करो....!!!

क्यों खो जाना चाहते हो..